Loading...

यह वजन घटाने वाली ‘सुपरकार्ब डाइट’ अजमाओ, थोड़े ही दिनमे वजन पर दिखेगा असर…

0
92
Loading...

यदि आप अधिक वजन वाले हैं, तो आपके शरीर के अतिरिक्त वजन को कम करने से आपको बेहतर महसूस करने में मदद मिल सकती है, और इसके लिए आपको कही भी जाने की जरुरत नहीं हे, सिर्फ ये पोस्ट पढ़ कर भी तुम्हे बहुत जानने को मिलेगा । कुछ लोगों के लिए उल्लेखनीय है, और अपने आहार और व्यायाम कार्यक्रम को समायोजित करने से आपको अपने लक्ष्य को पूरा करने में मदद मिल सकती है। हालांकि, इस तरह के आक्रामक वजन घटाने हर किसी के लिए उचित नहीं है, लेकिन आप अभी भी इन दिशानिर्देशों का उपयोग अपने लक्ष्य वजन को अपनी गति से करने के लिए कर सकते हैं।

क्या आप सुपरकार्ब्स के बारे में जानते हैं? सुपरकार्ब डाइट की मदद से आप हर हफ्ते अपना वजन 2 पाउंड यानी लगभग 1 किलो तक कम कर सकते हैं। और आज इस लेखमे हम आपको ये सुपरकार्ब डाइट कब, केसों और किस लिए लेना हे उसके बारे में बताने जा रहे हे। और साथमें यदि आप बड़े हैं, और आप बहुत सक्रिय जीवन शैली जीने के लिए तैयार हैं, तो यह काम कर सकता है।

खाए जाने वाले फूड्स की लिस्ट यहाँ हे..

Loading...

सुपर ग्रेन्स- चोकरयुक्त आटा (100% whole wheat), सूजी, ओट्स (oats), क्विनोआ (quinoa), बाजरा, ब्राउन राइस, ज्वार, रामदाना।

नाश्ते में सुपर ग्रेन ही खाएं। सुबह फाइबर युक्त अनाज के साथ इसे लेना रक्त शर्करा को संतुलित करता है और आपको पूरे दिन बेहतर भोजन विकल्प बनाने के लिए प्रेरित करता है। (नाश्ते में लगभग 300 कैलोरी होनी चाहिए।)

दोपहर और रात के खाने के लिए सुपर स्टार्च पर जाएं।

शकरकंद (sweet potato), कद्दू या सीताफल (pumpkin), सभी प्रकार की दालें, ग्रीन बीन्स और दूसरे बीन्स आदि।

दोपहर और शाम में, स्टार्ची वेजी और बीन्स अनाज की जगह लेते हैं। यह अनाज आधारित कार्ब के प्रलोभन को खत्म करती है जैसे कि रोटी, जो आसानी से खत्म हो जाती है। (दोपहर का भोजन लगभग 400 कैलोरी; रात्रिभोज, लगभग 500।) इसके लिए आप ऊपर बताए गए सुपर स्टार्च वाले फूड्स से कोई भी डिश बना सकते हैं।

स्नैक्स में सुपरकार्ब्स लें

अधिकांश मध्याह्न निबल फल या वेजी (कम से कम तीन ग्राम फाइबर) के साथ-साथ प्रोटीन या स्टैंडबाय स्टार्च भरने वाले कॉम्बो होते हैं। और साथही साथ आपको बता दे की तीनों मुख्य खानों के बीच आप 2 बार स्नैक्स ले सकते हैं। स्नैक्स में आप उबली या ग्रिल्ड सब्जियां, ताजे फल आदि ले सकते हैं।

खाने में आप इन मसालों का इस्तेमाल भी कर सकते हे ।

लहसुन: एक अद्भुत पौधा जो हृदय रोग और मोटापे जैसी पुरानी स्थितियों के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।

अदरक- अदरक में एंटी-इन्फ्लेमेट्री गुण होते हैं, इसलिए ये शरीर को बीमारियों से बचाता है और मेटाबॉलिज्म को तेज करता है।

हल्दी लगभग सभी रेगंजनों में निवेश की जाती है। हल्दी में पाया जाने वाला करक्युमिन नामक कैंसर कैंसर को फैलने से और टाइप -2 डायबिटीज को रोकने में मदद करता है। इसके इस्तेमाल से तंतुचा समनबीधी रोग भी दूर होते हैं। इसके अलावा साथ ही घाव या कटे पर हल्दी लगाने से काफी आराम मिलता है।

मिर्च में मौजूद कैपेंसेसिन जिसे शरीर के मैटाबॉलिज्म को तेज करता है।

जीरा आयरन का बहुत अच्छा स्रोत है। इसका सेवन नियमित रूप से करने से खून की कमी को दूर किया जा सकता है। इसमें मौजूद एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट ट्यूमर को बढ़ने से रोकने में मदद करना है।

अजवायन रुचिकारक और पाचक होती है। यह भूख व पाचन शक्ति को बढ़ाकर पेट से संबंधित कई रोग जैसे- गैस, अपच, कब्ज आदि को दूर करने में सहायक होता है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here